42 दिन बाद जिनपिंग से फिर मिलेंगे मोदी, इन 5 मुद्दों पर होगी बात

ss1

42 दिन बाद जिनपिंग से फिर मिलेंगे मोदी, इन 5 मुद्दों पर होगी बात

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार को चीन के पूर्वी शहर किंगडाओ में आठ सदस्यीय शंघाई सहयोग संगठन (SCO) के दो दिवसीय सम्मेलन में हिस्सा लेंगे. भारत और पाकिस्तान के एससीओ के पूर्ण सदस्य बनने के बाद इस संगठन की यह पहली बैठक है.

किंगडाओ में मोदी शी समेत एससीओ के सदस्य देशों के नेताओं के साथ कई द्विपक्षीय वार्ता भी करेंगे.  इस बैठक में एससीओ सदस्यों का जोर सुरक्षा, सहयोग, आतंकवाद विरोध, आर्थिक विकास और सांस्कृतिक विनिमय के क्षेत्रों पर रहेगा.

चीन में भारत के राजदूत गौतम बंबावाले ने कहा है कि वुहान में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग के बीच बनी सहमति शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) के किंगडाओ सम्मेलन में नजर आएगी. बता दें कि पीएम मोदी 27 अप्रैल को चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग के साथ एक अनौपचारिक बैठक में हिस्सा लेने वुहान पहुंचे थे.

उन्होंने कहा , “हम इन क्षेत्रों में अपना सहयोग बढ़ाते रहेंगे. भारत इस दिशा में अन्य सदस्य देशों के साथ मिलकर काम करेगा.” एससीओ सदस्यों में चीन, रूस, भारत, पाकिस्तान, कजाखस्तान, किर्गिजस्तान, तजाकिस्तान और उज्बेकिस्तान शामिल हैं. भारतीय राजदूत ने कहा कि भारत एससीओ में बढ़-चढ़कर हिस्सा लेगा.

print
Share Button
Print Friendly, PDF & Email