कैपीटॉल अस्पताल क्षेत्रीय कैंसर केंद्र के रूप में उभर रहा हैं

ss1

कैपीटॉल अस्पताल क्षेत्रीय कैंसर केंद्र के रूप में उभर रहा हैं

डॉ एस. के. शर्मा ने कैपीटॉल अस्पताल में निदेशक ओंकोलॉजी सर्विसेज के रूप में शामिल हुए

जालंधर: 17 जुलाई 2017: कैपीटॉल कैंसर केयर, कैपीटॉल हॉस्पिटल जालंधर में अति-आधुनिक तकनीक से पूरी तरह सुसज्जित कैंसर विभाग, द्वारा कैंसर की बढ़ती तेज़ रफ़्तार को रोकने के लिए की गई पहल और जालंधर जैसे शहर में विश्व-स्तरीय कैंसर का इलाज उपलभ्ध करवाने के लक्ष्य के साथ भारत के प्रतिष्ठित संस्थानों से कैंसर के माहिर इस क्षेत्र में प्रदान कर के क्षेत्रीय कैंसर केंद्र के रूप में उभर रहा है।

इस क्षेत्र के कैंसर रोगी आमतौर पर विशेषज्ञ सलाह या पूर्ण उपचार लेने के लिए लुधिआना, दिल्ली या बीकानेर के लिए लंबे घंटों की यात्रा करते हैं। इसमें कोई संदेह नहीं है कि उपचार की लागत और बढ़ जाती हैं क्योंकि रोगियों को उपचार की लागत के अलावा एक बड़े शहर में रहने का खर्चा भी उठाना पड़ता हैं।

लेकिन अब कैपीटॉल अस्पताल जालंधर ने पंजाब, हिमाचल प्रदेश एवं जम्मू और कश्मीर के निवासियों के लिए स्थानीय स्तर पर बेहतर वातावरण में उन्नत कैंसर का उपचार और देखभाल की सुविधा के लिए कोई कसर नहीं छोड़ी है। कैंसर से लड़ने और सम्पूर्ण जनसंख्या की सेवा के मिशन के साथ कैपीटॉल अस्पताल ने गर्व से अपनी टीम में  निर्देशित ऑन्कोलॉजी सर्विसेज (एक्स-राजीव गांधी कैंसर संस्थान, नई दिल्ली) के रूप में एक और प्रसिद्ध कैंसर विशेषज्ञ डा. एस. के. शर्मा शामिल किए है। उनके पास 23 सालो से भी ज्यादा समय का विशाल अनुभव है जिस में उन्होंने विभिन्न प्रकार के 30,000 से अधिक कैंसर रोगियों का इलाज कर चुके  है।

डॉ. सी. एस. प्रुथी  (अध्यक्ष, कैपीटॉल हॉस्पिटल) ने कहा, “हमारे तीन सालो के सफ़र में हमने पूरी कोशिश की हैं कि कैंसर के मरीजों को जालंधर में ही विश्व-स्तरीय इलाज प्राप्त हो ता कि मरीज़ को अपने सामाजिक सहायता प्रणाली से दूर न जाना पड़े, जो की एक रोगी की रिकवरी के लिए बहुत जरुरी है।  इस लिए हम देश के जाने माने कैंसर सेंटर  जैसे कि राजीव गांधी कैंसर संस्थान, नई दिल्ली और टाटा मेमोरियल सेंटर, मुंबई से कैंसर के विशेषज्ञों को जालंधर में कैपीटॉल कैंसर केयर को बेहतरीन कैंसर सेंटर की तरह विकसित करने के  लिए लाया गया है। अब हम डॉ. एस. के. शर्मा का कैपीटॉल परिवार से स्वागत करते हैं और उन्नत चिकित्सा प्रदान करने की उम्मीद करते हैं। “

डॉ. एस. के. शर्मा ने कहा, “ऐसी सुविधा का हिस्सा बनना मेरा सौभ्य है और आशा करता हूँ कि हमारी सेवाएं उत्कृष्ट रोगी देखभाल और विभाग के सुचारु संचालन पर केंद्रित हो।”

डॉ. हरनूर  सिंह प्रूथी  (डायरेक्टर मेडिकल, कैपीटॉल हॉस्पिटल) ने कहा, “सर्वोत्तम सेवाओं को सुनिश्चित करने के लिए, कैपीटॉल राष्ट्रीय कैंसर ग्रिड (एन.सी.जी) का भी हिस्सा है जो पूरे भारत में प्रमुख कैंसर केन्द्रों और अनुसंधान संस्थानों का एक नेटवर्क है और कोशिश करता है की कैंसर की रोकथाम, जांच और उपचार के लिए रोगी की देखभाल के एक-सम्मान मानकों का ही उपयोग हो। इसी प्रकार, साप्ताहिक ट्यूमर बोर्ड मीटिंग्स आयोजित की जाती हैं जिसमें जटिल कैंसर के मामलों पर विशेषज्ञों का एक पैनल चर्चा कर के सर्वोत्तम उपचार का फैसला करते  है।”

कैंसर मुक्त पंजाब के  सपने ने इस क्षेत्र में व्यापक कैंसर केंद्र की स्थापना की जिस में विश्व स्तर की सुविधाओं के साथ विकिरण ऑन्कोलॉजी, सर्जिकल ऑन्कोलॉजी, मेडिकल ऑन्कोलॉजी, ओन्को-पैथोलॉजी, ओन्को-रेडियोलॉजी और अन्य विशेषज्ञ सब एक ही छत के नीचे प्रदान की जाती है।

एन.ए.बी.एच. मान्यता प्राप्त अस्पताल में ई.सी.एच.एस., ई.एस.आई., एफ.सी.आई, आर.सी.एफ, उत्तरी रेलवे और अन्य निजी टी.पी.ए. जैसे विभिन्न संगठनों के तहत कैशलेस उपचार की  सुविधा भी उपलब्ध है।

5 महीने पहले कैपीटॉल ने एक विशेष कैंसर हेल्पलाइन का शुभारंभ किया था और अब विभिन्न जगह में सेटेलाइट सेंटर भी शुरू करने जा रहा है।

इस अवसर पर, डॉ. प्रुथी  ने 19 जुलाई से 25 जुलाई तक कैपीटॉल हॉस्पिटल में कैंसर स्क्रीनिंग वीक की घोषणा भी की जिसमें  नि: शुल्क कैंसर का परामर्श दिया जायेगा और कैंसर के उपचार पर 30% तक की छूट भी  प्रदान की जाएगी।

print
Share Button
Print Friendly, PDF & Email

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *