अल्पसंख्यकों को धमका कर सांप्रदायक नफऱत फैलाने वालों विरुद्ध सख़्त कार्यवाही हो: बाबा हरनाम सिंह ख़ालसा 

ss1

अल्पसंख्यकों को धमका कर सांप्रदायक नफऱत फैलाने वालों विरुद्ध सख़्त कार्यवाही हो: बाबा हरनाम सिंह ख़ालसा

गंगानगर प्रशासन और राजस्थान सरकार को फिरकाप्रस्त अनसरें को नकेल डालने के लिए लिखा पत्र

अमृतसर 6अप्रैल: दमदमी टकसाल के प्रमुख संत ज्ञानी हरनाम सिंह ख़ालसा ने श्री गंगानगर, राजस्थान के एक धार्मिक स्थान के जि़म्मेदार अधिकारी की तरफ से ग़ैर हिंदुयों को श्री गंगानगर छोड़ जाने या फिर उन को मार भगाऐ जाने प्रति ऐतराजय़ोग्य मेसेज सोशल मीडिया पर वायरल कर कर शरेआम दी गई धमकी का सख़्त नोटिस लिया है। उन इस की सख़्त निषिद्धता की और राजस्थान सरकार और श्री गंगानगर के प्रशासनिक आधिकारियों को उक्त मुद्दो की गंभीरता को समझने और पूरी जि़म्मेदारी और संजीदगी के साथ दोषियों विरुद्ध सख़्त कार्यवाही करन की माँग की है।
दमदमी टकसाल के प्रमुख ने सिक्खों समेत अल्पसंख्यक भाईचारों को शान्ति बनाई रखने की अपील करते कहा कि कम अल्पसंख्यक भाईचारों प्रति ग़ैर सामाजिक भाषा ईस्तेमाल करते धमक ी दे कर श्री गंगानगर के अरोड़वंश मंदिर ट्रस्ट के जि़म्मेदार अधिकारी गौरव ढिंगरा ने फिऱकाप्रस्ती सोच का दिखावा किया है। गंगानगर प्रशासन और राजस्थान सरकार को सांप्रदायक नफऱत फैलाने की इच्छा में बैठे शरारती अनसरें को नकेल डालने के लिए लिखे गए पत्र में उन कहा कि ऐसे शरारती अनसरों की भड़काऊ और घिरणापूरन कार्यवाहियों कारण सामाजिक शान्ति भांग होने का ख़तरा है। उन उक्त मामले को गंभीर ठहराते कहा कि किसी भी धर्म को निचला दिखाने या अपमान करन की कार्यवाही को सहन नहीं किया जा सकता। उन सोशल मीडिया का दुरुपयोग रोकनो का मुद्दा भी उठाया और सूबा सरकार और प्रशासन को दोषियों विरुद्ध सख़्त कार्यवाही की माँग की जिससे भविष्य दौरान ऐसे शरारती सोच वालों को भाईचारक सदभावना को चोट मारने से रोका जा सके और धार्मिक जज़बातों को ठेस पहुँचाने और सामाजिक शान्ति में रुकावट पहनने की कोशिश तो क्या इस बारे सोचने का भी हौसला न कर सके।
Share Button

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *